statement / witness in court अदालत में गवाही कैसे दे |

Loading...

प्रशन :वकील साहेब  मार्गदर्शन करे statement / witness in court अदालत में गवाही देते समय किस बात का ध्यान रखना चाहिए ?क्या बोलना चाहिए और कब बोलना चाहिए ?

उत्तर :-यह एक महत्वपूर्ण सवाल है ! हलाकि दिल्ली में तो अदालतों में फिर भी काफी हद तक नियम कानून और अनुशासन का पालन होता है ये सत्य है परन्तु अन्य खासकर ,बिहार,झारखण्ड,उतराखंड ,उत्तरप्रदेश ,मध्यप्रदेश ,छत्तीसगढ़ ,राजस्थान ,असम ,कोलकता आदि राज्यों में बहुत बुरा हाल है !

मै खुद भी देश के कई प्रदेशो में बहस व गवाही  के लिए जाता हूँ मैने खुद अदालतों में ऐसे हालात देखे है जो यह बयान भी नही कर सकता हु |

कई बार जज साहेब से वकीलों की तीखी बहस होती है ,बहुतो बार यहाँ तक की हाई कोर्ट्स में भी यही सिलसिला चलता है जो गवाह द्वारा कहा जाता  है वह नहीं लिखा जाता | यदि बाद में यह शिकायत जज साहब को की भी जाती है तो जज अदालत की अवमानना अर्थात अदालत की निन्दा ( Contempt of Court) का चार्ज लगाने की बात कहती है  क्योंकी जज पेशगार / रीडर जज के मुहँ लगे हो सकते है !

इसके अलावा भी सरकारी वकील भी स्टेट केसों में सही बाते नही लिखवाते है तथा वकीलो को सही तरीके से गवाह से सवाल नही पूछने देते है

यदि कोई भी जज मेरी इस बात पढ़ रहें हो तो नाराज होने की आवश्यकता नहीं बल्कि सच्चाई को स्वीकार करे और कमियों को दूर करे और इसका धयान रखे

statement / witness in court अदालत में गवाही देते समय क्या सावधानिय रखे :-  अगर मेरी बात किसी को भी गलत लगे तो वह स्वयं दिल्ली के ही पडोसी राज्यों के कोर्ट में जा कर देख लें ! यदपि सभी अधिकारी एक जैसे नहीं होते परन्तु राज्यों में अच्छे जुडीशियल ऑफिसर की तुलना में भ्रष्ट न्यायिक अधिकार अधिक हो सकते है

  1. जब आप अपना बयान दर्ज  करा रहे है तो ध्यान रखे की रीडर या पैशगार क्या लिख रहा है ? दिल्ली में तो बयान ( स्टेटमेंट ) टाइप या कंप्यूटर से लिखे जाते है तथा लिखते समय कोई गलती हो भी जाये तो उसको सुधारा जा सकता है पर बाकी राज्यों में जहा हाथ से लिखा जाता है वहा ऐसा नही है  इसलिए क्या लिखा जा रहा है उस पर पूरा ध्यान दे |
  2. दिल्ली में बयान होने के बाद कुछ देर के लिए गवाह को पढने को भी दे दिये जाते है यह आपकी  मर्जी है की अपने बयान को पूरी तरह पढ़े अथवा नहीं पढ़े ! परन्तु बाकी राज्यों की अदालतों में बयान (स्टेटमेंट ) जज का रीडर हाथ से लिखता है जिसे वह स्वयं ही पढ़ सकता है और हर किसी की समझ में उसकी Hand Writing आना मुश्किल है  इसलिए अपने बयान साफ व पड़ने लायक ही लिखवाए
  3. उसके बावजूद भी रीडर द्धारा॑ यह प्रयास किया जाता है की बयान देने वाले को पढने के वह कागज ना दिया जाए  लेकिन आप कागज को लेकर अपने हस्ताक्षर करने से पहले पूरा पड़ सकते है तथा कोई त्रुटी होतो उसको सही करवा सकते है
  4. याद रखे अपने बयान (स्टेटमेंट ) दर्ज (रिकॉर्ड ) होने के बाद ध्यान से पढ़ना आपका सविधानिक और कानूनी अधिकार है ! यदि रीडर आपको पढने को नहीं देता है तो जज से शिकायत करिए !
  5. यदि जज की अनुपस्थिति में आपके बयान दर्ज किये जाएं तो आप मना कर दीजिये क्योकि ये कानून है की जज  साहब की उपस्तिथि में ही गवाह के बयान दर्ज किये जायेंगे और जज साहब के सामने ही अपने बयान दर्ज (रिकॉर्ड ) करायें !
  6. कई बार कोर्ट रूम के रीडर लोगो से पैसे लेकर ,रिश्वत लेकर गलत लाइन लिख देते है ! बाद में आपके परेशानी का और केस हार जाने का प्रमुख कारण होता है  इसके लिए अपने बयान देने तुरंत बाद उस बयाँ की कच्ची कॉपी आप कोर्ट से फीस पे कर के उसी समय ले सकते है ये आपका अधिकार है |
  7. अगर आप स्टेट केस में statement / witness in court अदालत में गवाही के लिए  आये है तो आप को पूरा अधिकार है की आप कोर्ट की गवाही से अपने पुराने बयानों को पड सकते हो तथा उनको याद कर सकते हो ये आपका अधिकार है |

statement / witness in court अदालत में गवाही के बारे में और भी जरूरी बाते :-

  1. अगर आप स्टेट के में गवाह है और आपको अपने बयान दुबारा पड़ने व याद करने के लिए उसकी कॉपी और अगली तारीख चाहिए तो कोर्ट आपको आपके बयान की कॉपी फ्री में देगी तथा बाद में याद करके आने के लिए समय भी देगी |
  2. अगर आपको बयाँ देते समय सही वातावरण नही लग रहा है जैसे की आप से सवाल पूछने का तरीका सही नही है तथा आपको प्रेषण किया जा रहा है तो उस की शिकायत जज साहब से कर सकते है तथा जज के ना सुनने पर अपनी गवाही को रोक भी सकते है तथा दुसरे जज साहब की निगरानी में गवाही की मांग कर सकते है |
  3. अगर आप स्टेट केस में statement / witness in court अदालत में गवाही के लिए आये है तो आपको आने व जाने का खर्चा कोर्ट की तरफ से मिलता है वो आप की दुरी व साधन के हिसाब से कितना भी हो सकता है

जयहिंद!

द्वारा

अधिवक्ता धीरज कुमार

 

Loading...
Share on Social Media
  • 173
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

14 Comments

  1. Govind
  2. S S R K
  3. Chandan kumar
  4. Ahtasham rahi
  5. Ramdhan
  6. Rajneesh

Leave a Reply

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.