गजट gazette क्या है ? अपना नाम व सरनेम कैसे बदले ?

गजट gazette क्या है ? इसमें कैसे नाम, धर्म, लिंग में परिवर्तन और किसी दस्तावेज की गलती सुधारी जा सकती है ?

कई बार हम अपने दो नाम या फिर उनकी स्पेल्लिंग अलग-अलग लिख देते है या फिर घर में किसी के द्वारा ऐसा हो जाता है या फिर अपना नाम पसंद नही होने के कारण हम बदलना चाहते है या फिर नाम में अच्छा दिखने के लिए सरनेम जुडवाना चाहते है |

इसके अलावा आप शादी के कारण अपना सरनेम या धर्म परिवर्तन या फिर किसी जरूरी डाक्यूमेंट्स में कोई बदलाव या फिर उसके गुम होने से सम्बन्धित जानकारी को सार्वजनिक करना या फिर किसी व्यक्ति के द्वारा उसके लिंग परिवर्तन को सार्वजनिक करने की प्रकिर्या और इसका अपने डाक्यूमेंट्स में बदलाव, ये सब आप गजट notification की द्वारा कर सकते है

Headlines :-

  1. गजट gazette क्या है ?
  2. गजट कैसे निकलता है इसे कौन निकालता है ?
  3. राज्य में गजट निकलवाने के फायदे व नुक्सान ?
  4. उत्तर प्रदेश, हरयाणा और पंजाब राज्यों में गजट नही निकलता है वहा क्या करे ?
  5.   गजट निकलवाने की समय सीमा ?
  6. नाम व सरनेम में बदलाव से सम्बन्धित जानकारी ?
  7. गजट में कितनी बार नाम, धर्म और लिंग में परिवर्तन हो सकता है ?
  8. गजट निकलवाने की फीस व समय सीमा ?
  9. गजट निकलवाने का प्रोसीजर क्या है ?

गजट gazette क्या है ?

गजट क्या है ?

गजट क्या है ?

गजट सरकार द्वारा करवाया गया एक notification होता है जिसमे वो अपनी नीतियों, नये कानूनों व नियमो में बदलाव या नये कानूनों और नियमो के निर्माण या फिर जनता के द्वारा उनके सार्वजनिक जीवन सेस्म्बंधित कोई परिवर्तन जो की सार्वजनिक करना जरूरी हो उसको प्रकाशित करती है | ये केंद्र और राज्य सरकार की कार्यकारणी को दर्शाता है

गजट दो प्रकार के होते है पहला होता है केंद्र सरकार का दूसरा राज्य सरकार का दोनों को जब कोई कानून या नियम लागु करना या इसमें कोई बदलाव या फिर जनता से सम्बन्धित किसी बड़ी जानकारी में बदलाव को सर्वजनिक करना हो तो वे गजट के पब्लिकेशन के माध्यम से लागु करते है | दुसरे शब्दों में सीधे तौर पर कहू तो ये केंद्र और राज्य सरकार का अपना न्यूज़ पेपर है, जो की महीने में एक बार ही निकलता है  और सरकार के द्वारा लागु किये गये कानूनों व जनता के द्वारा किये गये पपरिवर्तन को दर्शाता है

गजट कैसे निकलता है इसे कौन निकालता है ?

राज्य सरकार अपने राज्य में और केंद्र सरकार पुरे देश में इसका पब्लिकेशन हर महीने करती है | ये गवर्नर के द्वारा निकलता है | ये हर महीने की 10 तारीख को निकलता है | ये एक बुकलेट की तरह छप कर निकलता है | इसके पेजों की संख्या सेकड़ो में होती है | इसकी पूरी बुकलेट भी आप अपने राज्य के सेक्ट्रियेट से खरीद भी सकते है  |

राज्य में गजट निकलवाने के फायदे व नुक्सान ?

अगर आपके किसी डाक्यूमेंट्स में कोई बड़ा बदलाव हुआ है या किया गया है या वो गुम हो गया है और उसका कोर्ट में केस चल रहा है या किसी डाक्यूमेंट्स में नाम या सरनेम का बदलाव, धर्म और लिंग परिवर्तन इत्यादि के लिए आप अपने राज्य में गजट निकलवा सकते है |

अगर आप सेंटर गवर्मेंट के कर्मचारी है और आप अपने धर्म, लिंग, नाम या सरनेम में कोई परिवर्तन करना चाहते है तो आपका पब्लिकेशन दिल्ली से ही करवाना होगा क्योकि केंद्र सरकार आपके नौकरी के डाक्यूमेंट्स में ये बदलाव नही करेगी | इसके लिये आपको केंद्र के गजट यानी की दिल्ली में ही गजट निकलवाना होगा |

उत्तर प्रदेश, हरयाणा और पंजाब राज्यों में गजट नही निकलता है वहा क्या करे ?

इसके अलावा अगर आपके राज्य जैसे की उत्तर प्रदेश, हरयाणा या फिर पंजाब में जहा गजट नही निकलता है वहा के निवासी अपने पास की डिस्ट्रिक कोर्ट में declaration suit फाइल करते है जिसमे न्यूज़ पेपर में पब्लिकेशन होता है और कोर्ट पुलिस द्वारा inquiry करवा कर declaration suit में सम्बन्धित डिपार्टमेंट को आदेश दे देती है | लेकिन ये रास्ता बहुत लंबा और खर्चीला है | क्योकि सम्बन्धित सभी डिपार्टमेंट को पार्टी बनाना उनको कोर्ट में बुलाना, फिर उनकी गवाही, इसमे कई साल लग जाते है और ये बहुत खर्चीला भी हो जाता है | इससे ज्यादा अच्छा है की आप दिल्ली में आकर गजट notification करवा ले | इसमें एक महीने का समय लगेगा और खर्चा भी बहुत कम है |

गजट निकलवाने की समय सीमा

गजट निकलवाने की कोई समय सीमा नही है आप अपने जीवन के किसी भी पडाव में अपने नाम, धर्म, लिंग में परिवर्तन करवा सकते है |

नाम व सरनेम में बदलाव से सम्बन्धित जानकारी

अगर आप अपना धर्म बदलते है तो जरूरी नही की आपको अपना नाम भी बदलना हो | लेकिन आपका नाम आपके नये धर्म से बिलकुल भी मेल नही खाता है तो अपना नाम बदल लेने में ही समझदारी है क्योकि ऐसे में आपको कई सरकारी डिपार्टमेंट में या सरकारी जगहों पर परेशानी का सामना करना पडेगा |

अगर आप सपना सरनेम बदलना चाहते है या अपना सरनेम ऐड करवाना चाहते है तो आपको वो सरनेम क्यों चाहिए इसकी जानकारी और आपके परिवार में वो सरनेम किसी के साथ जुड़ा हो इसका दस्तावेजी सबूत गजट ऑफिस को देना होगा, वरना वो सरनेम ऑब्जेक्शन में आ जाएगा और बदलाव नही होगा |

गजट में कितनी बार नाम, धर्म और लिंग में परिवर्तन हो सकता है?

आप अपना नाम, धर्म, लिंग कितनी भी बार बदल सकते है, इसके लिये अभी कोई नियम नही है | लेकिन गजट ऑफिसर चाहे तो आपके आधार कार्ड के कारण इस बदलाव को जानकार इसमें ऑब्जेक्शन ले सकता है | हां ऐसा आप कर सकते है की आपने कोई नया नाम, धर्म या लिंग लिया है और बाद में अपने पुराने नाम, धर्म या लिंग को अपनाना चाहते है तो आप उसे अपना सकते है | इसके लिए कोई ऑब्जेक्शन नही लगेगा

गजट निकलवाने की फीस व समय सीमा

वैसे हर राज्य की अपनी फीस है लेकिन दिल्ली में सारे प्रोसीजर की फीस एक पॅकेज की तरह जिसमे सभी खर्चे सम्मिलित है दिल्ली में रहने वाले के लिये 10 हजार और दिल्ली से बाहर रहने वाले व्यक्ति के लिए 15 हजार है |

गजट निकलने की समय सीमा एक महिना है अगर आप दिल्ली के निवासी नही है या किसी कारण वंश दिल्ली नही आ सकते है तो इसके लिए आप एक्स्ट्रा फीस पे करके भी गजट निकलवा सकते है | ऐसे में वो गजट आवेदन करने के 3 महीने के बाद निकलेगा, क्योकि वो आपके राज्य के S.D.M. ऑफिस से inquiry पूरी होने बाद ही निकलता है |

आप दिल्ली में गजट notification करवाने के लिए मुझसे सम्पर्क कर सकते है |

गजट निकलवाने का प्रोसीजर क्या है?

गजट notification निकलवाने का सारा प्रोसीजर मैंने अपनी एक दुसरी पोस्ट में दिया हुआ है उसका लिंक यहा दे रहा हु        http://bit.ly/2Ktr7Bt

जय हिन्द

द्वारा

Advocate Dheeraj Kumar Gautam

ज्यादा अच्छी जानकारी के लिए इस नंबर 9278134222 पर कॉल करके  online advice ले advice fees  is rupees 1000 only.

 

ये पोस्ट भी जरुर पढ़ें :-

हेल्थ से जुड़े टिप्स जानने के लिए क्लिक करे नीचे दी गई इमेज पर |

https://www.healthbeautytips.co.in/

https://www.healthbeautytips.co.in/

Share on Social Media
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

12 Comments

  1. Emteyaj mallick
  2. अरुण कुमार मिश्रा
  3. Krishna Kumar banskar
  4. Emteyaj mallick

Leave a Reply

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.