गिफ्ट डीड क्या होती है यह कैसे लिखी जाती है

गिफ्ट डीड क्या होती है वह कैसे लिखी जाती है ? एक वैध गिफ्ट डीड लिखने के लिए क्या आवश्यकताये होती है |

गिफ्ट डीड gift-deed-rules-in-hindi

गिफ्ट डीड क्या है ?

उत्तर :- भारतीय संपत्ति हस्तातरण अधिनियम की धारा 122 के अंतर्गत दान की परिभाषा इस प्रकार दी गई है की “यह किसी वर्तमान जंगम या स्थावर संपत्ति का वह अंतकरण है, जो किसी एक व्यक्ति के द्वारा, जो दाता कहलाता है, दूसरे व्यक्ति को जो अदाता कहलाता है, स्वेच्छा और प्रतिफल के बिना दिया गया है और अदाता की ओर से प्रतिग्रहित किया गया है | अतः दान स्वेच्छापूर्वक प्रेम, आदर अथवा दया से प्रेरित होकर बिना किसी प्रतिफल लिए वस्तु के स्थायित्व का अंतरण है”

निष्कर्ष :- (कोई भी वर्तमान चल या अचल सम्पति उस के मालिक द्वारा अपनी इच्छा से किसी दुसरे को दी जा सकती है | इसमें देने वाला दाता कहलाता है तथा लेने वाला अदाता | ये दान प्यार, आदर, तथा दया से प्रेरित होकर किया होना चाहिए इसमें किसी भी प्रकार का प्रतिफल यानि बदले में दाता द्वारा अदाता से कोई भी वस्तु, सम्पति या नगद पैसा नही लिया जाना होना चाहिए)

साधारणतया, दान एक व्यक्ति द्वारा दिया जाता है तथा दूसरे व्यक्ति द्वारा लिया जाता है अगर हम साधारण भाषा में बात करे तो गिफ्ट डीड दो प्रकार की होती है पहली (1) चल सम्पति से सम्बन्धित जैसे की पैसा, कार्ड, आभूषण, पेंटिंग इत्यादि | तथा दूसरी (2) कोई भी ऐसी वस्तु जो की स्थिर नही हो अचल सम्पति होती है जैसे की घर, जमीन आदि |

उपहारों की स्थिति में Gift Deed बनाए जाना आवश्यक नहीं होता है लेकिन महंगे उपहारों के कुछ मामलों में इसे बनाए जाने की आवशयकता होती हैं। और अगर गिफ्ट डीड अचल सम्पति से सम्बन्धित है तो गिफ्ट डीड बनवाना आवश्यक है ।

गिफ्ट डीड का उदेश्य व महत्वता :-

महंगे उपहार जैसे की आभूषण जो या फिर अचल सम्पति जैसी की घर, जमीन के संबंध में | यदि वस्तु का मालिकाना हक पहले किसी और व्यक्ति का रहा है, या फिर भविष्य में उस वस्तु पर कई लोगों की हिस्सेदारी होने की आशंका हो, तो गिफ्ट डीड बनाना सही रहता है । इसको बनाने का सबसे बड़ा फायदा यह होता है | कि भविष्य में उस वस्तु के मालिकाना हक को लेकर कोई विवाद खड़ा नही होता है |

गिफ्ट डीड के आवश्यक तत्व कौन से है :-

जैसे की मैने पहले बताया है की Gift Deed में दो पक्षकार होते है पहला दाता कहलाता है जो की अपनी सम्पति को गिफ्ट करता है तथा दूसरा अदाता कहलाता है जो की उस गिफ्ट को प्राप्त करता है इसको लिखते समय दोनों को इन बातो का ध्यान रखना चाहिए |

1. गिफ्ट डीड कौन कर सकता है :-

किसी भी सम्पति का मालिक, जिसका उस सम्पति पर स्मावित्व है, वो अपनी उस सम्पति को गिफ्ट कर सकता है लेकिन वो सम्पति उस की स्वय की अर्जित की हुई, विल द्वारा मिली हुई या फिर उसे भी गिफ्ट द्वारा मिली हुई होनी चाहिए | याद रहे अगर आप किसी सम्पति में सम्पूर्ण मालिक नही है लिकिन वो आपके संरक्षण में है जैसे की आभूषण या इस तरह की वस्तु, तो ऐसे में सिर्फ आप अपने हिस्से में आने वाली सम्पति को गिफ्ट कर सकते हो न की सम्पूर्ण सम्पति को और अगर इसमें आपका कोई स्मावित्व नही है, तो आपके पास होते हुए भी नही |

2. गिफ्ट डीड की अदायगी का तरीका :-

गिफ्ट डीड में जो भी वस्तु या सम्पति गिफ्ट की गई हो | वो बिना शर्त और प्रतिफल के होनी चाहिए | उसमे अगर आप किसी भी प्रकार की शर्त लगा देने है, या फिर प्रतिफल की मांग करते है तो वो शून्य मानी जाएगी | इसलिए बिना किसी शर्त व प्रतिफल के सीधे व कम शब्दों में Gift Deed बनाये |

3. गिफ्ट की वजह:-

गिफ्ट डीड करने की वजह इसमें जरुर लिखी होनी चाहिए की आप किस वजह से ये गिफ्ट कर रहे है ये वजह स्वेच्छापूर्वक दान, प्यार व आदर स्वरूप के कारण होनी चाहिए और इसका जिक्र भी होना जरूरी है सही वजह न लिखी होने के कारण रजिस्ट्रार इसको रजिस्टर करने से मना भी कर सकता है

4. रजिस्टर होना जरुरी :-

इसका जिस्ट्रार से रजिस्टर होना जरूरी बहुत जरुरी है वरना उसकी कोई मान्यता नही होती है

गिफ्ट डीड किस व्यक्ति को कर सकते है : –

आप किसी भी व्यक्ति को Gift Deed कर सकते है, वो व्यक्ति आपके लिए अनजान भी हो सकता है लेकिन इसके लिए आपको वजह लिखनी होती है की आप प्यार, दान, सत्य निष्टा व आदर स्वरूप उसको अपनी सम्पति दान में दे रहे है |

गिफ्ट डीड कैसे लिखे व बनाये :-

गिफ्ट डीड को बनाने के 6 चरण है

  • गिफ्ट डीड में सबसे पहले उसकी हेडिंग लिखे
  • इसके बाद दोनों पक्षों के नाम, उम्र, व पता लिखे | दोनों के फोटो लगाये
  • इसके बाद गिफ्ट डीड में सम्पति का जिक्र करे की आप किस को कितनी सम्पति गिफ्ट कर रहे हो |
  • इसके बाद आप ये गिफ्ट डीड क्यों कर रहे है इसका वर्णन करे |
  • इसके बाद दो गवाहों के नाम पते के के साथ मूल पक्षों के हस्ताक्षर और हो सके तो अगुठो के निशान के साथ लगाये
  • अंत में कार्य उस Gift Deed को रजिस्टर्ड करवाने का होता है जो आप रजिस्ट्रार से रजिस्टर करवा सकते है।

गिफ्ट डीड की करवाने की स्टाम्प ड्यूटी /फीस कितनी होती है तथा कौन देता है :-

जब किसी सम्पति को खरीदने के समय जो स्टाम्प ड्यूटी दि जाती है वही स्टाम्प ड्यूटी गिफ्ट डीड में भी दि जाती है इन दोनों में कोई अंतर नही होता है वैसे हर राज्य का अपना स्टाम्प ड्यूटी एक्ट है और उस राज्य के हिसाब से सबकी फीस अलग होती है इसलिए में यह फीस का वर्णन नही कर रहा हु | लेकिन इस में फीस देने की जिममेदारी गिफ्ट डीड करने वाले की होती है न की गिफ्ट लेने वाले की | लेकिन कोई भी कोई स्टाम्प ड्यूटी पे कर सकता है |

गिफ्ट डीड किस भाषा में होनी चाहिए :-

ये हिंदी, अंग्रेजी या आप अपने राज्य की भाषा में बनवा सकते है |

क्या गिफ्ट डीड करने वाला व्यक्ति कभी बाद में अपनी गिफ्ट की हुई सम्पति को कभी वापस भी ले सकता है :-

एक बार अगर आपने अपनी सम्पति किसी को गिफ्ट कर दी तो आप उसको सम्पति अधिकरण अधिनियम की धारा 127 के अंतर्गत उसका निलम्बन नही करवा सकते है | वो सम्पति अब उसके नये मालिक की ही रहेगी | तथा वो उसको किसी को भी बेच भी सकता है |

लेकिन अभी सुप्रीम कोर्ट ने अपने जजमेंट के तहत ये आदेश पारित किया है की अगर माता पिता अपने बच्चो को सम्पति गिफ्ट करते है और बाद में वे बच्चे अपने माता पिता की सेवा नही करते है तो वो डीड समाप्त भी की जा सकती है | या धोखे से दी गई गिफ्ट डीड भी समाप्त करवाई जा सकती है |

बहन भी अपने भाई से गिफ्ट की हुई सम्पति वापस ले सकती है | अगर भाई ने बहन को पूछना छोड़ दिया है और उसका आदर नही करता है |

जय हिन्द

द्वारा

अधिवक्ता धीरज कुमार

ज्यादा अच्छी जानकारी के लिए इस नंबर 9278134222 पर कॉल करके online advice ले advice fees will be applicable.

इन्हें भी जाने :-

Share on Social Media
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

207 Comments

  1. Mohd Arif
  2. Krishna yadav
  3. Dhananjay
  4. Vivek Pandey
  5. Himanshu Pandey
  6. Dhananjay
  7. सुरेन्द्र सुमन
  8. Rahul Kumar
  9. Anish kumar rai
  10. Prince Pandey
  11. Prince Pandey
  12. Anish kumar rai
  13. Anish kumar rai
  14. Anish kumar rai
  15. kc sahu
  16. Suraj
  17. Surendra
  18. Akhilesh kumar upadhyay
  19. Prince Pandey
    • Shubham
  20. Prince Pandey
  21. भगत सिंह
  22. Sanjay kumar
    • Sanjay kumar
  23. Varun
    • Avinash kumar
  24. Varun
  25. Sanjay
  26. Devendra
    • Amirsohail choudhary
  27. Lavkush
  28. Prabhat
  29. Ravi
  30. Abhishek Kr Choudhary
  31. AJAY THAPA
  32. Vimal
  33. Prabhakar
  34. Preeti mishra
  35. sonu sharma
  36. Vivekanand Pandey
  37. Ashok Kumar
  38. Abhay Kumar
  39. Faisal
    • Faisal
  40. Abhijit more
  41. Bharat
  42. Mukesh sharma
  43. DEEPAK kr thakur
  44. धनंजय कुमार
  45. Omkar pandey
  46. दीपेश
    • Girish Kumar Khulve
  47. Indeajeet
  48. Nitin
  49. S. K.
  50. Suresh kamble
  51. Bipin sharma
  52. mahaveer
  53. AVADHESH MAURYA
  54. Subodh kumar
  55. Ajay yadava
  56. Sonu lodha
  57. Sonu lodha
  58. Sonu lodha
  59. मनीष
  60. शिवलालगुर्जर
  61. Aamna
  62. Nand Kishore
  63. Rushikesh Harne
    • Shubham agrawal
  64. Satyendra Choudhary
  65. मिलन
  66. PAVAN KUMAR
  67. Sameer gupta
  68. Pawan prajapat
  69. Sanjay sahni
  70. रवि जोजार
  71. अक्षत कुमार
  72. Poornima singh
  73. Prakash kumar chouhan
  74. Aditya
  75. Suman
  76. Saurabh gaund
  77. Suman
  78. Anjana
  79. Narendra sharma
  80. Pancham sinha
  81. Sangeeta
  82. Kishor
  83. Dheeraj Kumar

Leave a Reply

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.